ज़ालिम शिक्षक: मासूम बच्चा पहाड़ा नही सूना पाया तो हाथ पर टीचर ने चला दी ड्रिल मशीन

आदिल अहमद

कानपुर: मासूम अपने शिक्षक को स्कूल में दो का पहाड़ा सही से नही सुना पाया था। जिसके बाद घुस्से में अनुदेशक ने मासूम बच्चे के हाथ में ड्रिल मशीन चला दिया। घटना उच्च प्राथमिक विद्यालय मॉडल प्रेमनगर की है। जहा कक्षा पांच के छात्र विबान को एक निजी संस्था के अनुदेशक ने हाथ में ड्रिल मशीन चलाकर घायल कर दिया। मामला गुरुवार का है। छात्र के हाथ में चोट देखकर शुक्रवार को अभिभावकों ने स्कूल में आकर हंगामा किया। घटना की सुचना मिलने के बाद बीएसए मौके पर गये। बीएसए ने जख्मी छात्र का न सिर्फ हाल जाना, बल्कि उत्साहवर्धन भी किया।

सूत्रों के मुताबिक, उच्च प्राथमिक विद्यालय प्रेम नगर में छात्र विवान कक्षा पांच का छात्र है। विद्यालय में अनुदेशक बच्चों से पहाड़ा सुन रहे थे। छात्र विवान 2 का पड़ाहा नहीं सुना सका। इससे नाराज अनुदेशक अनुज ने विद्यालय में रखी ड्रिल मशीन को विवान के हाथ में चला दिया। वहीं, खड़े दूसरे छात्र कृष्णा ने मशीन को प्लग हटा दिया, जिससे मशीन बंद हो गयी। तब तक विवान के हाथ में गहरा जख्म हो चुका था।

मामला संज्ञान में आते ही शिक्षिका अलका त्रिपाठी ने थोड़ा-बहुत उपचार कर घायल छात्र को उसके घर भेज दिया। विवान घर पहुंचा तो परिजन उसका जख्म देख उससे पूछताछ की। विवान ने रोते हुए घटना की पूरी जानकारी अपने माता-पिता को दी। परिजन शुक्रवार की सुबह जख्मी विवान को लेकर स्कूल में पहुंचकर हंगामा करने लगे। इसकी सूचना शिक्षकों ने उच्चाधिकारियों को  दी। सूचना मिलते ही बीएसए सुरजीत कुमार सिंह मौके पर पहुंच गये।

विवान के परिजनों ने बीएसए को बताया कि ड्रिल चला कर हाथ को जख्मी करने के बाद बगैर उपचार छात्र को घर भेज दिया गया। शिक्षिका अलका त्रिपाठी ने घटना की जानकारी न तो किसी विभागीय अधिकारी को दी और न ही छात्र को इंजेक्शन लगवाया। बीएसए ने बताया कि परिजनों की शिकायत सुनने के बाद अनुदेशक को स्कूल से हटाया जा रहा है। अनुदेशक और शिक्षिका के खिलाफ जांच के बाद कठोर कार्रवाई की जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *