चौक थाने पर पोस्टेड हे0का0 मानस तिवारी ने सिद्ध किया “आपकी सेवा में सदैव तत्पर वाराणसी कमिश्नरेट पुलिस”

ए जावेद

वाराणसी। वाराणसी कमिश्नरेट पुलिस के किसी भी थाने अथवा चौकी पर जाए तो वह एक स्लोगन अवश्य लिखा होता है “आपकी सेवा में सदैव तत्पर वाराणसी कमिश्नरेट पुलिस।” इस शब्द के काफी वृहद् मायने होते है। जिसको समझने की आवश्यकता होती है। वाराणसी कमिश्नरेट पुलिस के चौक थाने पर पोस्टेड हे0का0 मानस तिवारी ने सिद्ध किया कि यह शब्द केवल दीवारों अथवा बोर्ड पर लिखने के लिए नहीं है बल्कि ये शब्द वास्तव में वाराणसी कमिश्नरेट पुलिस अपने कार्यो में लाती है।

हुआ कुछ इस तरफ कि बीती रात यानि बुद्धवार को रात लगभग 8 बजे के करीब चौक रोड पर सभी अपने अपने कामो को खत्म करके अपने आवास की तरफ जा रहे थे। इसी जल्दी तो सभी को घर वापसी की होती है। चौक रोड पर चल रहे निर्माण कार्यो के वजह से एक लेन ही चालु है। दूसरी लें खुदी हुई है। इसी दौरान पुलिस ट्रैफिक नियंत्रण का प्रयास भी कर रही थी। तभी कोयला बाज़ार निवासी एक युवक बाइक से उधर से गुज़र रहा था। रोड के रश और ख़राब हो चुकी सड़क के कारण अचानक उसके बाइक का एक चक्का सडक में बन चुके खड्डे में फंस गया और बाइक अनियंत्रित होकर गिर पड़ी। बाइक गिरने से युवक भी सड़क पर गिर पड़ा। आसपास के पड़े ईंट पत्थर के मलवे से उसको जोर की चोट आई।

वह तो गनीमत था कि युवक ने हेलमेट लगाया हुआ था अन्यथा बड़ा हादसा हो सकता था। युवक को गिरता देख पास ही ट्राफिक नियंत्रण कर रहे चौक थाने पर पोस्टेड मानस तिवारी अपने स्थान से दौड़ कर गए और गिरे युवक को उठाया। युवक के बाए पाँव में अंदरूनी काफी चोट आई हुई समझ आ रही थी। मानस तिवारी ने युवक को उठा कर पास के मजार के पास बैठाला। तब तक राहगीरों ने युवक की गिरी बाइक को उठा कर किनारे लगा दिया। युवक अपने पाँव पर चोट लगने एक कारण ढंग से खड़ा नही हो पा रहा था। मानस तिवारी ने पहले तो युवक को पानी पिला कर रिलैक्स करने को कहा। उसके बाद देसी अखाड़े में रियाज़ कर चुके मानस तिवारी ने युवक के पाँव की वही सड़क पर फिजियोथेरेपी किया।

फिजियोथिरेपी होने के कारण युवक को चंद मिनटों में ही आराम मिल गया और वह बाइक चलाने के लायक वापस हो गया। युवक को दवा इलाज के सम्बन्ध में भी मानस तिवारी ने पूछा। जिसके बाद युवक अपनी बाइक लेकर हे0का0 मानस तिवारी को धन्यवाद् कहते हुवे चला गया। क्षेत्र में एक पुलिस कर्मी द्वारा इस तरह की मानवता दिखाने की चर्चा काफी रही और लोग इस कार्य की प्रशंसा कर रहे है। वही घायल हुवे युवक ने हमसे बात करते हुवे कहा कि जिस तरीके से वाराणसी कमिश्नरेट पुलिस आम जन का सहयोग कर रही है उससे हमारे मन में पुलिस के प्रति जो भाव थे वह बदल गए है। हकीकत में वाराणसी पुलिस मित्र भी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *